1. दैनिक राशिफल 03-Feb-2017

    आपकी राशि का स्वामी चंद्रमा दशम भाव में मेष राशि में है। लग्न में वृहस्पति वक्री होकर अपनी उच्च राशि में बैठा है। मंगल सप्तम भाव में उच्च राशि का होकर बैठा है, लेकिन लग्न पर अपनी नीच राशि को देख रहा है। अतः आशा-निराशा के मिश्रित भाव रहेंगे। परिवार में सुख-शांति रहेगी। वृहस्पति लग्न में बैठ कर भाग्य भाव को नवम दृष्टि से देख रहा है। लेकिन केतु की नवम भाव में स्थिति से तरक्की प्रारंभिक कठिनाइयों के बाद ही होनी चाहिए। राहु पूरे वर्ष तृतीय भाव में रहेगा। कार्यक्षेत्र में कार्य निष्पादन संतोषप्रद रहेगा। विद्यार्थियों के लिए यह वर्ष उत्तम फल देने वाला रहेगा। उच्च शिक्षा व शोध आदि कार्यो के लिए किसी दूरस्थ स्थान पर जाना पड़ सकता है।

    क्या करें
    प्रतिदिन रात्रि में एक कप दूध में चुटकी भर हल्दी पाउडर डाल कर दूध का सेवन करें तथा रात्रि में सरसों का तेल हाथों व पैरों के नाखूनों पर लगाएं। वृहस्पतिवार के दिन गाय को तीन केले या बेसन के लड्ड या बेसन का मीठा परांठा खिलाएं।

    लाल किताब के उपाय
    वाहन सावधानी से चलायें। किसी से ताबीज/भभूत न लें। जीवनसाथी के माता-पिता का उचित मान-सम्मान करें। घर में जले-कटे-फटे कपड़े न रखें। प्रत्येक मंगलवार को हनुमानजी की पूजा-अर्चना करें एवं मीठा प्रसाद बांटें।

     
साप्ताहिक राशिफल

 

सप्ताह शुभफलदायी रहेगा। व्यापारियों को खासतौर पर आर्थिक लाभ प्राप्त होगा। परिवार में आमोद-प्रमोद का वातावरण रहेगा। विवाह आदि मंगल कार्यों के चलते मेहमानों की आवाजाही बनी रहेगी। जमीन-जायदाद, रियल स्टेट में धन निवेश के योग बनेंगे। विद्यार्थी वर्ग परीक्षा परिणामों से प्रसन्न होगा।


उपाय ः नीम व पीपल के वृक्ष लगाएं।
शुभ रंग ः हलका लाल। शुभांक ः 1

वार्षिक राशिफल

 

वर्ष के प्रारम्भ में आपकी राशि का स्वामी मंगल कन्या राशि में होकर षष्ठ भाव में होगा। 5 फरवरी को तुला राशि में प्रवेश कर सप्तम भाव में आ जायेगा। 3 मार्च को मंगल वक्री होकर 26 मार्च को पुन: कन्या राशि में 15 जुलाई तक रहेगा। अत: 19 अक्तूबर तक मंगल के विभिन्न राशियों में भ्रमण करके धनु राशि में प्रवेश तक आप मानसिक रूप से परेशान रहेंगे। क्रोध रहेगा। व्यर्थ के झगड़े व विवाद की परिस्थितियां बनेंगी। बृहस्पति की मिथुन राशि में उपस्थिति आपको धार्मिक कार्यो में व्यस्त रखेगी। सामाजिक कार्यो में मान-सम्मान मिलेगा। नौकरी में परिवर्तन के योग हैं। वर्ष के अंत में विदेशयात्रा के योग बन रहे हैं। 27 फरवरी से 1 अप्रैल के मध्य वाहन सुख में वृद्धि होगी।