भारतीयों को US में मुश्किल से मिलेगी नाैकरी, H-1B वीजा नियमाें में बदलाव की तैयारी...

By Pradesh Times Friday, January 13 17 12:00:00

भारतीयों को US में मुश्किल से मिलेगी नाैकरी, H-1B वीजा नियमाें में बदलाव की तैयारी...

पुणे.वनडे और T20 की कैप्टेंसी छोड़ने के बाद महेंद्र सिंह धोनी शुक्रवार को पहली बार मीडिया के सामने आए। पुणे के एमसीए स्टेडियम में उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के वक्त से ही मुझे लगता है कि भारत में स्प्लिट कैप्टेंसी यानी तीनों फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तानी काम नहीं करती। उन्होंने कहा, "मैं सही वक्त का इंतजार कर रहा था। मैं चाहता था कि विराट टेस्ट फॉर्मेट की कप्तानी में आसानी से ढल जाएं। विराट हमेशा से तैयार थे और मुझे लगा कि ये सही वक्त है उन्हें यह जॉब सौंपने का।

नई दिल्ली। शेयर बाजार की चाल इस हफ्ते बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों और आगामी बजट से निवेशकों की उम्मीदों से तय होगी। विशेषज्ञों ने यह अनुमान जताया है। सोमवार को दिसंबर के थोक महंगाई के आंकड़े जारी होंगे। इसका भी बाजार की कारोबारी धारणा पर असर पड़ेगा।

एशिया का सबसे पुराना एक्सचेंज बीएसई 23 जनवरी को 1,500 करोड़ रुपये का अपना बहुप्रतीक्षित आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आइपीओ) लेकर आएगा। विश्लेषकों के मुताबिक, तीसरी तिमाही के नतीजे बाजार के लिए अगला बड़ा ट्रिगर साबित होंगे। इस हफ्ते जिन प्रमुख कंपनियों के नतीजे आएंगे उनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज, एक्सिस बैंक और अडानी पावर शामिल हैं।

व्यापक आर्थिक मोर्चे पर दिसंबर 2016 के लिए थोक बिक्री मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआइ) आधारित महंगाई की घोषणा सोमवार को होगी। बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 478.83 अंक यानी 1.78 फीसद और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 156.55 अंक यानी 1.89 फीसद की बढ़त के साथ बंद हुआ।

इस तेजी के कारण देश की शीर्ष 10 मूल्यवान कंपनियों में से सात का बाजार पूंजीकरण (एमकैप) 37,833.55 करोड़ रुपये बढ़ गया। सप्ताह के दौरान एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण सबसे ज्यादा 10,080.95 करोड़ रुपये बढ़कर 3,14,988.19 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

इसके अलावा आइटीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोल इंडिया, भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी और इंफोसिस का एमकैप भी बढ़ा। इसके उलट टीसीएस, ओएनजीसी और एचयूएल के बाजार पूंजीकरण में गिरावट आई।

शेयर बाजार की चाल इस हफ्ते बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजों और आगामी बजट से निवेशकों की उम्मीदों से तय होगी। विशेषज्ञों ने यह अनुमान जताया है। सोमवार को दिसंबर के थोक महंगाई के आंकड़े जारी होंगे। इसका भी बाजार की कारोबारी धारणा पर असर पड़ेगा।

एशिया का सबसे पुराना एक्सचेंज बीएसई 23 जनवरी को 1,500 करोड़ रुपये का अपना बहुप्रतीक्षित आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आइपीओ) लेकर आएगा। विश्लेषकों के मुताबिक, तीसरी तिमाही के नतीजे बाजार के लिए अगला बड़ा ट्रिगर साबित होंगे। इस हफ्ते जिन प्रमुख कंपनियों के नतीजे आएंगे उनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज, एक्सिस बैंक और अडानी पावर शामिल हैं।

व्यापक आर्थिक मोर्चे पर दिसंबर 2016 के लिए थोक बिक्री मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआइ) आधारित महंगाई की घोषणा सोमवार को होगी। बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 478.83 अंक यानी 1.78 फीसद और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 156.55 अंक यानी 1.89 फीसद की बढ़त के साथ बंद हुआ।

इस तेजी के कारण देश की शीर्ष 10 मूल्यवान कंपनियों में से सात का बाजार पूंजीकरण (एमकैप) 37,833.55 करोड़ रुपये बढ़ गया। सप्ताह के दौरान एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण सबसे ज्यादा 10,080.95 करोड़ रुपये बढ़कर 3,14,988.19 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

इसके अलावा आइटीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोल इंडिया, भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी और इंफोसिस का एमकैप भी बढ़ा। इसके उलट टीसीएस, ओएनजीसी और एचयूएल के बाजार पूंजीकरण में गिरावट आई।

By Pradesh Times Friday, January 13 17 12:00:00