बाजार में दिख रही है होली की खुमारी, जानें- कैसे हो सकता है केमिकल रंगों से बचाव

By Pradesh Times Monday, February 26 18 12:00:00

बाजार में दिख रही है होली की खुमारी, जानें- कैसे हो सकता है केमिकल रंगों से बचाव

नई दिल्ली। रंगों के त्योहार होली को अब चंद ही रोज रह गए हैं। इसकी रंगत अब बाजारों में भी दिखने लगी है। हर तरफ लोगों पर होली की खुमारी नजर आ रही है। बाजार में होली की तैयारियों को लेकर दुकानें सज चुकी हैं। छोटे-बड़े सभी मार्केट में मौजूद दुकानों में अब केवल होली की ही बहार है। दुकानें रंग, गुलाल, पिचकारी और होली से जुड़ी अन्य प्रकार की वस्तुओं से सज चुकी हैं।

होली के दिन का इंतजार

इस रौनक के बीच दुकानदारों ने अपनी दुकानों को खूबसूरती से सजाया है। वहीं, लोग अपने दोस्तों और परिजनों को रंगों में सराबार करने के लिए बेसब्री से होली के दिन का इंतजार कर रहे हैं। बच्चे इसे लेकर अधिक उत्साहित हैं और अपने अभिभावकों के साथ दुकानों पर रंग और पिचकारी खरीदने में अभी से ही जुट गए हैं। इलाके के रोहिणी, पीतमपुरा, प्रशांत विहार, रानी बाग, अवंतिका, केशवपुरम, शालीमार बाग, आजादपुर सहित सभी क्षेत्रों के प्रमुख बाजारों में होली से जुड़ी सामग्रियों की भरमार है।

लुभा रही हैं डिजाइनर पिचकारियां

रंग-गुलाल की मस्ती के साथ बच्चों को पिचकारी सबसे अधिक लुभाती है। होली पर पिचकारी को लेकर बच्चों में क्रेज रहता है। इसे भुनाने के लिए बाजार में पूरी तैयारी हो चुकी है। बच्चों के पसंदीदा कार्टून छोटा भीम, मोटू-पतलू, डोरेमोन आदि के आकार वाली डिजाइनर पिचकारियों की भरमार है। बंदूक, टैंक के आकार वाली पिचकारी भी खूब पसंद की जा रही है। इनकी कीमत 50 से लेकर हजार रुपये तक है। इसके अलावा कुछ ऐसी भी पिचकारी बाजार में मौजूद हैं, जिसमें रंगीन पानी भरने की जरूरत नहीं होती। ऐसी पिचकारी के अंदर ही कई रंग होते हैं। प्रशांत विहार में पिचकारी विक्रेताओं ने बताया कि प्रत्येक वर्ष पिचकारियों के डिजाइन और आकार में फेरबदल हो जाता है। जिसे बच्चे खूब पंसद करते हैं। एअर प्रेशर, एक्शन बिगन और फनगन जैसी पिचकारियां बच्चों को खूब भा रहे हैं।

By Pradesh Times Monday, February 26 18 12:00:00