पगड़ी पर सिखों को फख्र क्यों है: US में लोगों को ये बताने के लिए कैम्पेन शुरू

By Pradesh Times Saturday, April 15 17 12:00:00

पगड़ी पर सिखों को फख्र क्यों है: US में लोगों को ये बताने के लिए कैम्पेन शुरू

 

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क.अमेरिका में सिख धर्म को लेकर अवेयरनेस फैलाने के मकसद से शुरू यह कैम्पेन एक बड़ी पहल है क्योंकि 65% से ज्यादा यूएस सिटिजंस इस धर्म से अंजान हैं। अमेरिका में 'वी आर सिख' नाम से नेशनल लेवेल पर कैम्पेन शुरू हुआ है। इस दौरान यूएस सिटिजंस को सिखों के बारे में जानकारी दी जाएगी और यह भी बताया जाएगा कि सिखों को अपनी पगड़ी पर फख्र क्यों है? कैम्पेन के जरिए लोगों में इस माइनॉरिटी कम्युनिटी को लेकर फैली गलतफहमी को भी दूर करने की कोशिश की जाएगी। बता दें कि यूएस में हाल ही में हेट क्राइम की कई घटनाएं हुई हैं जिनमें सिखों को भी टारगेट किया गया है।

 

65% अमेरिकी सिख धर्म से अंजान...
- न्यूज एजेंसी के मुताबिक नेशनल सिख कैम्पेन (NSC) के को-फाउंडर और सीनियर एडवाइजर राजवंत सिंह ने कहा, "बैसाखी पर शुरू हुआ यह कैम्पेन एक महीने चलेगा। यह हमारे लिए एक पवित्र दिन है। पगड़ी बराबरी को लेकर हमारी सोच और दूसरों की सेवा का प्रतीक है, लेकिन अभी ये आतंकवाद और अमेरिका विरोध की प्रतीक बन गई है।"
- "अमेरिका में सिख धर्म को लेकर अवेयरनेस फैलाने के मकसद से शुरू यह कैम्पेन एक बड़ी पहल है क्योंकि 65% से ज्यादा यूएस सिटिजंस हमारे धर्म से अंजान हैं। हम अमेरिकी समाज के एक मजबूत स्तंभ हैं, हमें आपस में और अपने पड़ोसियों से मिलते रहना चाहिए।"
बदलाव के लिए मीडिया की भी मदद
- इस कैम्पेन को कामयाब करने और बदलाव लाने के लिए मीडिया की भी मदद ली जाएगी। इसमें मार्केटिंग और पब्लिक रिलेशन को शामिल किया गया है, ताकि नेशनल और लोकल न्यूज चैनलों पर सिख अमेरिकंस की मौजूदगी पर फोकस किया जा सके। इसके अलावा सोशल मीडिया, ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल किया जाएगा। डिजिटल एडवर्टाइजमेंट्स पर जोर दिया जाएगा।
- टीवी कैम्पेन पर 1.5 मिलियन डॉलर खर्च किए जाएंगे। टेलीविजन पर एड की शुरुआत शुक्रवार से हुई। ये एड CNN और Fox News पर भी आएंगे।

भेदभाव का सामना कर रही है कम्युनिटी
- कैम्पेन के ऑर्गनाइजर्स का कहना है, "अमेरिका में सिख कम्युनिटी भेदभाव का सामना कर रही है। हमें धमकी दी जा रही है, हैरेसमेंट की घटनाएं भी बढ़ गई हैं। डोनाल्ड ट्रम्प के प्रेसिडेंट बनने के बाद से बड़े पैमाने पर गलतफहमी फैली है। 9/11 आतंकी हमले का भी इसमें हाथ है।" 
- NSC के को-फाउंडर और एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर गुरविन सिंह आहूजा ने कहा, "सिख वैल्यूज अमेरिकी वैल्यूज हैं। एक सदी से ज्यादा समय से अमेरिकी समाज में हमारा अहम योगदान है, हम यहां बिजनेस करते हैं और गर्व से अपना राष्ट्रगान गाते हैं। अमेरिका का सपना ही हमारी मूल पहचान है, कठिन मेहनत करने वाले हर शख्स को आगे बढ़ने की आजादी देने में हमारा गहरा विश्वास है।"
अमेरिका में सिखों से जुड़े हेट क्राइम के प्रमुख मामले
- वॉशिंगटन में 3 मार्च को एक सिख को गोली मार दी गई थी। 39 साल के भारतीय सिख दीप राय को उनके घर के बाहर गोली मारी गई। बुरी तरह जख्मी होने के बाद भी हालांकि वे बच गए। हमलावर ने गोली मारने के बाद कहा कि तुम अपने देश वापस लौट जाओ।
- इंडियाना स्टेट के मोनरो हॉस्पिटल में भारतीय सिख डॉक्टर अमनदीप सिंह को 30 मार्च को जान से मारने की धमकी दी गई। उनके सेलफोन पर एक टेक्स्ट मैसेज आया था, जिसमें उन्हें यह धमकी दी गई। अमेरिका में हाल ही में कई सिखों को ऐसी धमकी दिए जाने के मामले सामने आए हैं। 

By Pradesh Times Saturday, April 15 17 12:00:00