राष्ट्रगान से ज्यादा जरूरी है कर्त्तव्य निभाना - हाईकोर्ट

By Pradesh Times Tuesday, February 07 17 12:00:00

राष्ट्रगान से ज्यादा जरूरी है कर्त्तव्य निभाना - हाईकोर्ट

लखनऊहाईकोर्ट-और-जिला-अदालतों-में-रोजाना-न्यायिक-कार्य-शुरू-होने-से-पहले-राष्ट्रगान-अनिवार्य-करने-के-लिए-दाखिल-याचिका-इलाहाबाद-हाईकोर्ट-की-लखनऊ-खंडपीठ-ने-खारिज-कर-दी।जस्टिस-अमरेश्वर-प्रताप-शाही-और-जस्टिस-संजय-हरकौली-ने-अपने-निर्णय-में-कहा-कि-उनकी-नजर-में-अपना-कर्तव्य-निभाना-ज्यादा-जरूरी-है।-राष्ट्रगान-का-सम्मान-उसमें-और-संविधान-के-सच्चे-मूल्यों-में-विश्वास-रखने-से-है।अदालतों-में-रोजाना-राष्ट्रगान-गाना-अपने-आप-में-संविधान-के-प्रति-सम्मान-दर्शाने-का-तरीका-शायद-नहीं-कहा-जा-सकता।अधिवक्ता-सुरेश-कुमार-गुप्ता-ने-याचिका-दायर-की-थी।उनका-कहना-था-कि-हाईकोर्ट,-जिला-अदालतों,-ट्रिब्युनलों-और-अन्य-न्यायिक-संस्थानों-में-राष्ट्रगान-का-गायन-करवाना-नैतिक-और-संवैधानिक-दायित्व-है।-सुप्रीम-कोर्ट-की-ओर-से-पिछले-वर्ष-नवंबर-में-श्याम-नारायण-चौकसे-मामले-में-सिनेमा-हॉल-में-राष्ट्रगान-अनिवार्य-करने-के-निर्णय-से-प्रभावित-याची-का-कहना-था-कि-अदालतों-में-भी-हर-सुबह-खड़े-होकर-राष्ट्रगान-गाया-जाना-चाहिए।

सुप्रीम-कोर्ट-ने-अपने-निर्णय-में-कहा-था-कि-समय-आ-चुका-है-कि-नागरिक-यह-पहचाने-कि-वे-राष्ट्रगान-के-लिए-सम्मान-प्रदर्शित-करने-के-कर्तव्य-से-बंधे-हैं।-यह-संवैधानिक-रूप-से-देशभक्ति-की-पहचान-है।

धार्मिक-प्रार्थना-नहीं-है-राष्ट्रगान

हाईकोर्ट-ने-कहा-कि-संविधान-के-अनुच्छेद-51ए-मूल-कर्तव्यों-में-कहा-गया-है-कि हर-भारतीय-नागरिक-का-यह-कर्तव्य-है-कि-वह-संविधान-से-बंधा-रहेगा-और-इसके-आदर्शों,-संस्थाओं,-राष्ट्रध्वज-और-राष्ट्रगान-का-सम्मान-करेगा। इसके-तहत-सुप्रीम-कोर्ट-ने-सिनेमा-हॉल-में-फिल्म-शुरू-होने-से-पहले-राष्ट्रगान-बजाने-और-लोगों-को-इसके-लिए-खड़े-होने-के-आदेश-दिए-थे।-अपने-निर्णय-में-हाईकोर्ट-ने-कहा-कि-अदालतों-में-रूटीन-के-तौर-पर-राष्ट्रगान-गाने-की-कोई-परंपरा-नहीं-रही-है।

सिनेमा-हॉल-को-लेकर-दिए-आदेश-में-भी-इस-बारे-में-कुछ-नहीं-कहा-गया-है।-न्यायिक-स्वायत्तता-रखने-वाले-हाईकोर्ट-ने-भी-ऐसा-कोई-नियम-नहीं-बनाया-है,-न-ही-देश-में-ऐसा-कहीं-हो-रहा-है।हाईकोर्ट-ने-कहा-कि-धार्मिक-प्रार्थना-और-राष्ट्रगान-गाने-में-फर्क-है।-ईश्वर-की-प्रार्थना-खुद-का-बनाया-अनुशासन-है-जो-व्यक्ति-आध्यात्मिक-लाभ-के-लिए-करता-है।-यह-निजी-है,-धार्मिक-है।-वहीं,-राष्ट्रगान-गाने-की-प्रार्थना-से-तुलना-नहीं-की-जा-सकती।देशभक्ति-पैदा-करने-या-कर्तव्य-भाव-जगाने-के-लिए-सार्वजनिक-संस्थान-के-अधिकारियों-को-इसे-जबरन-गाने-के-लिए-नहीं-कहा-जा-सकता।-हाईकोर्ट-ने-कहा-कि-कर्तव्य-का-निर्वहन-सर्वोपरि-है-और-यही-असली-पूजा-है।

बताए-कर्तव्य-और-देशभक्ति-के-मायने

हाईकोर्ट-ने-अपने-निर्णय-में-कहा-कि-कर्तव्य-वह-है-जिसका-निर्वहन-हर-व्यक्ति-को-करना-है,-वह-नहीं-जिसे-करवाने-के-बारे-में-लोग-सोचें।-यह-निर्वहन-कष्ट-भरा-और-अनिवार्य-हो-सकता-है-लेकिन-इसे-ठीक-से-किया-जाना-चाहिए।नागरिक-अपने-सार्वजनिक-या-निजी-जीवन-में-इस-निर्वहन-से-स्वतंत्र-नहीं-हो-सकते।-नागरिक-को-अपने-कर्तव्य-याद-रहें-और-वह-उनका-निर्वहन-करे-तो-यह-उसके-लिए-सम्मान-की-बात-होती-है।-देश-के-नागरिक-होने-के-नाते-यह-हम-पर-कर्ज-है।

देशभक्ति हाईकोर्ट-ने-देशभक्ति-पर-कहा-कि-यह-सामूहिक-दायित्वों-की-जीवंत-समझ-है।-इसकी-जड़ें-देश-में-होती-हैं-और-इसे-किसी-धर्म-के-रूप-में-नहीं-सोचा-जा-सकता।-सच्ची-देशभक्ति-किसी-राजनीतिक-दल-की-संपत्ति-नहीं-हो-सकती।यह-केवल-अपने-देश-के-प्रति-प्रेम-पैदा-करती-है-और-जो-देश-के-हैं,-उनके-प्रति-सम्मान-करना-सिखाती-है।-देश-का-होना-एक-जन्मसिद्ध-और-अंतर्निहित-भाव-है,-जबरदस्ती-का-नहीं।-आप-देश-के-हैं,-यह-प्राकृतिक-रूप-से-पैदा-होने-वाली-भावना-है।-शेक्सपीयर-अपने-नाटक में-देश-के-प्रत-सम्मान-को-जीवन-से-बढ़कर-मानते-हैं।

By Pradesh Times Tuesday, February 07 17 12:00:00